Fri. Apr 19th, 2024

बिहार में जेडीयू-बीजेपी का गठबंधन टूट गया है। सीएम नीतीश आवास के घर पर जेडीयू के विधायक दलों की बैठक में फैसला लिया गया है कि अब बीजेपी के साथ गठबंधन जारी नहीं रहेगा..

सभी विधायकों का निर्णय – नीतीश कुमार CM पद से इस्तीफ़ा दे

जानकारी के मुताबिक सीएम नीतीश कुमार के आवास पर जेडीयू विधायक दलों की बैठक में बीजेपी से अलग होने का फैसला ले लिया गया है। विधायक दल की बैठक में फैसला लिया गया है कि जेडीयू अब बीजेपी के साथ नहीं रह सकती। हालांकि पार्टी की तरफ से गठबंधन खत्म करने को लेकर औपचारिक ऐलान अभी बाकी है।


नीतीश को बीजेपी से दर्द तो बहुत हैं, लेकिन बीजेपी-जेडीयू गठबंधन के लिए कैंसर बनी बस ये दो बात

खबर है कि नीतीश कुमार तेजस्वी यादव की पार्टी आरजेडी के साथ मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं। एक तरफ जहां जेडीयू खेमे में हलचल है वहीं दूसरी तरफ राबड़ी आवास पर विधायक दलों की बैठक चल रही है। आरजेडी की तरफ से भी अभी तक नीतीश कुमार की की पार्टी जेडीयू को समर्थन का औपचारिक ऐलान नहीं किया गया है। लेकिन लालू यादव की बेटियां ट्वीट कर इस बात की तस्दीक कर रही हैं कि बिहार में एक बार फिर आरजेडी और जेडीयू गठबंधन की सरकार बनने जा रही है। लालू यादव की बेटी रोहिणी के बाद अब उनकी चंदा यादव ने भी ट्वीट में लिखा है तेजस्वी भव: बिहार। इससे पहले रोहिणी सिंह ने ट्वीट कर लिखा था- राजतिलक की करो तैयारी, आ रहे हैं लालटेन धारी…
नीतीश के गठबंधन बदलने से पहले जेडीयू से सौदेबाजी में आरजेडी, तेजस्वी को चाहिए डिप्टी सीएम और गृह मंत्रालय!

बिहार विधानसभा में

फिलहाल बीजेपी के पास 77

सीटें हैं.

JDU के पास 45, कांग्रेस के

19, सीपीआईएमएल (एल)

के

नेतृत्व वाले वाम दलों के पास 16 और राजद के पास 79 सीटे हैं