Wed. Apr 10th, 2024

अभनपुर= पुलिस थाना से मिली जानकारी अनुसार अभनपुर के निकट ग्राम बेंद्री में 11 फरवरी की रात्रि करीब 11:00 बजे चंदू देवांगन रोजगार सहायक के घर गांव के ही उपसरपंच शैलेंद्र यादव ने रात्रि को रोजगार सहायक के घर नकाबपोश लगाकर घर में घुसा और कमरे में सो रहे रोजगार सहायक के पिता के ऊपर हमला कर दिया,

हमले के बाद आवाज आने पर बाजू में सो रहे उसके पुत्र चंदू देवांगन भी उठकर गया तो नकाबपोश शैलेंद्र यादव ने हाथापाई कर रहा था और चंदू देवांगन नकाबपोश से भिड़ गया

उसके बाद उसका नकाब खुल गया खुल जाने से पता चला कि यह गांव का ही उप सरपंच शैलेंद्र यादव है,

तब सब घर के लोग इकट्ठा होकर के उसे पकड़ कर घर में रखे थे, फिर गांव वालो को,आवाज देकर बुलाया, सभी गांव वाले इकट्ठा हुए रात्रि में करीब 11:30 बजे रोजगार सहायक के घर में घुसकर हमला करने का सभी गांव वासियों ने निंदा किया ,ज्ञात हो कि नकाबपोश शैलेंद्र यादव ने अपने साथ हथोड़ा एवं हासिया,राड लेकर जान से मारने के लिए पहुंचा था ,जिसका रिपोर्ट पुलिस थाना में की गई है,

पुलिस थाना के निरीक्षक थाना प्रभारी ने बताया कि शैलेंद्र यादव के खिलाफ धारा, 452, 323 ,506 के तहत अपराध दर्ज किया गया है, एवं दूसरे पक्ष के द्वारा दी गई आवेदन पर भी जांच किया जा रहा है।

चंदू देवांगन का बयान

इसी मामले को लेकर आज 14 फरवरी को पूर्व विधायक धनेद्र साहू के नेतृत्व में ब्लॉक कांग्रेस कमेटी द्वारा धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम द्वारा ज्ञापन सोपा गया है,

और कार्यवाही करने की मांग की है, आज के धरना प्रदर्शन में पूर्व विधायक धनेंद्र साहू, प्रवीण साहू, राधा कृष्ण टंडन, नीलकमल गिलहरे, सुनील कौशल, गिरधारी साहू, चंद्रहास साहू विमल साहू, विद्याभूषण सोनवानी सहित बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

ईसी मामले में वर्तमान विधायक इंद्र कुमार साहू ने प्रचंड धारा से चर्चा में बताया कि –

indra kumar sahu hd

उप सरपंच शैलेंद्र यादव आसामाजिक तत्व है ,गांव में इनके खिलाफ कई मामले हैं, गत 5 वर्षों में लगातार आपस में एक दूसरे को लड़ा कर माहौल को खराब करता रहता है,

और घटना की रात्रि को भी रोजगार सहायक के घर घुसकर जान से मारने की नीयत से घुसा हुआ था ,जिसका पर्दाफाश हो गया। विधायक ने कहा है कि मामले के निष्पक्ष जांच कर कार्य वाही होनी चाहिए, मैं उस दिन व्यस्त कार्यक्रमों में था,

घटना होने के बाद चंदू देवगन ने मुझे फोन कर बताया, तब रात्रि को करीब 11:30 बजे अपने गांव बेंद्री पहुंचा तब मैं गांव वालों के समक्ष देखा हूं। ,,, रोजगार सहायक चंदूलाल देवांगन ने बताया कि घटना के एक दिन पहले ही गांव में रोजगार गारंटी के तहत सुबह काम काम करने के लिए मुनियादी कराया गया था शायद इसी वजह से वह उपसरपंच ने मेरे घर रात्रि में नकाब लगाकर मुझे जान से करने के लिए घर घुसा था, और घटना को अंजाम दिया, सोचा होगा कि फिर गांव में कुछ काम नहीं हो पाएगा, क्योंकि वह हमेशा ही गांव के विकास में अवरुद्ध करता है।