Sat. Apr 20th, 2024

( प्रचंड धारा ) रायपुर… छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर की पुलिस चुनाव को लेकर अब सीरियस मोड में नजर आ रही है। विधानसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस ने रायपुर के दो कुख्यात आरोपियों को कोर्ट के आदेश से जिला बदर किया है। इन आरोपियों पर अलग-अलग मामलों पर 17 अपराध दर्ज थे। जिला बदर के बाद अब ये रायपुर और उसकी सीमावर्ती जिलो में भी प्रवेश नहीं कर पाएंगे।

पहले आरोपी का क्राइम रिकॉर्ड

ये दोनों आरोपी बिरगांव उरला थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। इनमें एक आरोपी 23 साल का विकास उर्फ रावण मधुकर है। इसके ऊपर बीते 5 सालों में 2018 से 23 तक के 6 मामलें दर्ज है। जिसमें कुछ गंभीर अपराध भी शामिल है। लोगों को डराना धमकाना, गुण्डागर्दी, अवैध रूप से चाकू रखकर लहराते हुये लोगों को डराना धमकाना, नाबालिग को बहला फुसलाकर भगा कर ले जाना, जुआ खेलना अपराध थाना उरला रायपुर में दर्ज हुए हैं।

दूसरे आरोपी का क्राइम रिकॉर्ड

इसके अलावा एक दूसरे आरोपी 20 साल के मोहम्मद जुबेर के खिलाफ उरला थाना के अलावा खमतराई थाने में भी अपराध दर्ज हैं। जिसमें बीते 5 सालों में उसने 11 अपराध किए हैं। इसके विरुद्ध गुण्डागर्दी, मारपीट, चाकूबाजी करना, गंदी-गंदी गाली देकर जान से मारने की धमकी देना, कैची से वार कर चोट पहुंचाना, लूटपाट जैसे संगीन अपराध दर्ज हुए

है।

रायपुर जिला दंडाधिकारी ने दिए आदेश

दरअसल रायपुर पुलिस ने विधानसभा चुनाव को देखते हुए कुछ आदतन अपराधियों पर लगातार सख्ती बरत रही है। इन मामलों में पुलिस ने सबसे पहले दो अपराधियों के प्रकरण को जिला दंडाअधिकारी के समक्ष पेश किया। जिसके बाद इन्हें जिला बदर करने के लिए आदेश पुलिस को दे दिए गए।

बॉर्डर जिलों में भी एंट्री पर लगा बैन

इस दौरान यह दोनों आरोपी राजधानी रायपुर समेत आसपास के बॉर्डर जिला पर भी प्रवेश नहीं कर पाएंगे। इन जिलों में दुर्ग, धमतरी, महासमुंद, गरियाबंद, बलौदा बाजार के सीमाओं में बिना सक्षम न्यायालय की अनुमति के प्रवेश न करने का आदेश दिया गया है।

पुलिस आदतन बदमाशों पर कड़ी निगरानी कर रही है

इस मामले को लेकर रायपुर सिटी एएसपी लखन पटले ने बताया कि रायपुर पुलिस चुनाव को लेकर लगातार पुराने आदतन बदमाशों पर कड़ी निगरानी कर रही है। इनके किसी भी अपराधों में संलिप्तता मिलती हैं तो उन पर सख्ती से कार्यवाई की जा रही है।