Sat. Apr 13th, 2024

(प्रचंड धारा) रायपुर… प्राथमिक शाला प्रधान पाठक जिला रायपुर के पदोन्नति में भारी गड़बड़ी की शिकायत मिली है, ज्ञात हो कि स्थानांतरण से आए हैं शिक्षक पूर्णिमा टंडन एवं चंद्रशेखर कन्नौजे जैसे दर्जनों सहायक शिक्षकों का पदोन्नति जिला शिक्षा अधिकारी रायपुर द्वारा कर दी गई है जिसके वजह से जिले के वरिष्ठ शिक्षकों को पदोन्नति नहीं हो पाया है,


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रथम नियुक्ति तिथि को दरकिनार कर संविलियन तिथि को आधार माना गया है जबकि प्रदेशभर में संविलियन जुलाई 2018 को हुआ है, इससे पदोन्नति हेतु वरिष्ठता नहीं बनाया जा सकता , मामला हाईकोर्ट पहुंच सकता है ,शिक्षा संहिता नियमावाली में प्रथम नियुक्ति को ही पदोन्नति का आधार माना गया है, लेकिन सिर्फ रायपुर जिले में पदोन्नति हेतु संविलियन को देखना पूरी तरह संदेह को जन्म देता है,

दलालों के माध्यम से लेनदेन कर कनिष्ठ शिक्षकों को भी पदोन्नति देने का मामला प्रकाश में आया है, तथा महिला शिक्षकों को ब्लॉक से बाहर पदोन्नति दी गई है जो कि शासन के नियमों की धज्जियां उड़ाई गई है,सभी लोग एक स्वर में पदोन्नति सूची को निरस्त करने की मांग कर रहे हैं, ताकि गड़बड़ी में सुधार हो सके ,और अनियमितता बरतने वाले कर्मचारी पर कठोर कार्यवाही किया जाए ,सिर्फ शासन की छबि धूमिल करने का काम कर रहे हैं,

पदोन्नति सूची को सार्वजनिक नहीं करना पूरी तरह संदेह को दर्शाता है। जिसकी शिकायत मुख्यमंत्री, शिक्षा मंत्री, लोक शिक्षण संचनालय एवं कलेक्टर के पास किया जा चुका है, कांग्रेस नेता टिकेंद्र ठाकुर ने गत दिनों स्कूल शिक्षा संचालक लोक शिक्षा संचनालय में सुनील जैन से मिलकर प्रधान पाठक पदोन्नति सूची को निरस्त कर काउंसलिंग प्रक्रिया से पारदर्शी पूर्ण भर्ती करने की मांग कर ज्ञापन सौंपा गया संचालकलोक शिक्षण संचनालय ने कार्यवाही का आश्वासन दिया है।

टिकेंद्र ठाकुर
(प्रदेश उपाध्यक्ष इंटक कांग्रेस)